मेरा स्कूल पर निबंध

मनुष्य को जीवन में सफल बनाने में सबसे बड़ा योगदान उसके विद्यालय का होता है। कोई भी मनुष्य जन्म से ही विषय कौशल नहीं होता है बल्कि इस धरती पर आकर ही किसी भी विषय पर ज्ञान प्राप्त करता है। मेरा चार मंजिले का स्कूल बहुत अच्छा है, यह हमारे लिए एक मंदिर के समान है जहाँ हम रोज पढ़ने के लिये जाते है। स्कूल पहुंचने के बाद हम सबसे पहले प्रार्थना करते है और इसके बाद अपने कक्षा अध्यापक को प्रणाम करके अपनी कक्षा की शुरुआत करते है।
इसके बाद हम अपने पाठ्य क्रम के अनुसार पढ़ना शुरु करते है। मुझे रोजाना स्कूल जाना काफी पसंद है। मेरे स्कूल में बहुत कड़ा अनुशासन है जिसका सभी विद्यार्थियों द्वारा नियमित पालन किया जाता है। इसके साथ ही मुझे मेरे स्कूल का ड्रेस भी काफी पसंद है मेरा स्कूल मेरे प्यारे घर से दो किलोमीटर की दूरी पर है और मैं पीली रंग की बस से अपने स्कूल जाता हूँ। ये एक बहुत शांतिपूर्ण जगह पर स्थित है जो प्रदूषण, शोर, गंदगी तथा शहर के धुएं से दूर है।

Post a Comment

0 Comments